Hariye na himmat bisariye na Sai Ram


Can't view hindi text click here to download font

हारिये न हिम्मत बिसारिये न सांई राम~~~

हारिये न हिम्मत बिसारिये न सांई राम~~
तू क्यों सोचे बंदे सब की सोचे सांई राम~~~

दीपक ले के हाथ में सतगुरु राह दिखाये~~
पर मन मूरख बावरा आप अँधेरे जाए~~~

पाप पुण्य और भले बुरे की वो ही करता तोल~~
ये सौदे नहीं जगत हाट के तू क्या जाने मोल~~~

जैसा जिस का काम पाता वैसे दाम~~
तू क्यों सोचे बंदे सब की सोचे सांई राम~~

Posted By : Vinod Jindal on Jul 29, 2011


Leave Comment Share YouTube Video Contribute Content